Ticker

6/recent/ticker-posts

Backlink Kya Hai | Backlink कैसे बनाएं


Backlink Kya Hai? और बैकलिंक क्यों जरुरी है? यदि आप एक नए ब्लॉगर है, तो आपके लिए इसे जानना बहुत जरुरी है। क्योंकि काफी हद तक वेबसाइट को search engine की rank में लाने के लिए backlinks का उपयोग किया जाता है।


इसे हम seo का एक मुख्य पार्ट समझ सकते हैं और किसी भी website को Google या किसी अन्य search engine के पहले पेज पर लाने के लिए सिर्फ और सिर्फ एस.ई.ओ (seo) टेक्निक का ही इस्तेमाल किया जाता है।  


यदि आप ने ब्लॉग वेबसाइट अभी-अभी बनाई है, तो आपको SEO क्या है? जानना बहुत ही जरुरी है। यदि आपको इसके बारे में नहीं पता है, तो आप लिंक पर क्लिक करके उस पोस्ट को पढ़ सकते हैं। 


Backlink kya hai - Backlink kaise banaye


Backlink ब्लॉगिंग की दुनियाँ का बहुत एक महत्वपूर्ण शब्द है। किसी भी ब्लॉग के सफल होने के पीछे High Quality backlink network का बहुत बड़ा हाथ होता है। नए blogger शायद इस शब्द की Importance नहीं जानते होंगे! लेकिन जैसे-जैसे Blogging field में अनुभव बढ़ेगा जानकारी हासिल होती जाएगी। 


मैं आपको बता दूं कि, website पर traffic लाने के लिए और SEO (search Engine Optimization) के लिए Backlink बहुत ही महत्वपूर्ण है। 


इस article में Backlink का अर्थ, प्रकार, गुणवत्ता और Backlink setup करने का तरीका बताया गया है। तो आइये ब्लॉगिंग की इस महत्वपूर्ण चीज़ के बारे में जानकारी हासिल करते हैं।


बैकलिंक क्या है? - (Backlink Kya Hai? )


तो चलिए हम अपने मेन टॉपिक पर आते है कि Backlink Kya Hai? दोस्तों backlinks जो है वो दो शब्दों से मिलकर बना है पहला है बैक ( back ) और दूसरा है लिंक ( link ) पहले वाले का मतलब होता है, दुबारा से उसी जगह लोट जाना और दूसरे का मतलब होता है, उसके साथ किसी दूसरी चीज़ का जुड़ा होना।


वैसे आपने लिंक के बहुत सारे उधारण देखे होंगे जैसे कि आप किसी पोस्ट को पढ़ रहे हैं और उसमें किसी word पर आप mouse एरो को ले जाते हो, तो वहां पर आपको एक link दिखाई देती है, उसे  हम hyper link या internal link भी कहते है, जो एक पोस्ट से दूसरे पोस्ट पर लगी होती है।


ठीक उसी तरह बैकलिंक क्या है? उसका जवाब है भी ऐसा ही है, मतलब कि एक  website से दूसरी website पर आने-जाने के लिए इस्तेमाल की गई link को हम, backlink कहते है। ये दो तरह की होती है, जिनके बारे में भी हम इसी पोस्ट में जानेंगे लेकिन उससे पहले हम ये जान लेते हैं कि backlink किस काम आती है? और इसके बारे में हर ब्लॉगर क्यों जानना चाहता है।


दोस्तों जैसा कि आप लोग जानते हो कि जब तक किसी भी website पर traffic ( विजिटर ) नहीं आते हैं, तो वो किसी काम की नहीं है। क्योंकि हम या आप लोग blogging में सफलता पाना चाहते हैं और वो बिना traffic के पॉसिबल नहीं है।


अगर आपको blogging में success होना है, तो उसके लिए आपको seo का अच्छा नॉलेज होना जरूरी है और उसी seo का एक पार्ट है backlink। अब आपको समझ आ गया होगा कि बैकलिंक क्या है?, और कितनी जरुरी है किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए।


Backlink Ke Fayde / बैकलिंक के लाभ


बढ़िया क्वालिटी के बैकलिंक सेट करके ब्लॉग पर अच्छा खासा traffic लाया जा सकता है। और ज़्यादा traffic यानी ज़्यादा क्लिक और ज़्यादा क्लिक मतलब ज़्यादा Earning । अच्छे ब्लॉग पर backlink सेट करने पर ब्लॉग का alexa rank भी बढ़ता है। और search engine में Post बड़ी आसानी से index होनें लगते हैं। साथ ही page ranking भी बढ़ता है।


Link Juice Kya Hai ?


इंटरनेट पर जब किसी एक webpage का link आपके वैबसाइट के किसी article post के या homepage से जुड़ा हुआ होता है, तब उस page पर लिंक क्लिक होने से, link flow होकर आपके Blog (website) तक पहुंचता है। इसे ही Link juice कहा जाता है। इस प्रकार के link juice से domain authority भी बढ़ती है और ब्लॉग पोस्ट का page rank भी बढ़ता है।


Internal linking Kya Hai ?


अगर किसी ब्लॉग पर कोई एक पोस्ट अच्छी Rank पर है। उस post पर visitor की तादाद बहुत अधिक आ रही है। तो आप उस ब्लॉग पोस्ट में अपने अन्य नए या पुराने article post के link डालकर, उस Post की popularity का लाभ ले सकते हैं। 


कम शब्दों में कहा जाए तो एक ही website blog में एक article post का link किसी दूसरे अन्य article post में डाले गए लिंक को Internal Linking कहा जाता है। Blog page views बढ़ाने का यह उत्तम तरीका है।


Do Follow Backlink और No Follow Backlink की जानकारी


° Do Follow Backlink


इस प्रकार का बैकलिंक हमेशा Link Juice पास करने में मददगार होता है। बड़े-बड़े वैबसाइट पर प्रतिदिन ज्यादा traffic आता है। ऐसे famous website इस प्रकार के link बहुत कम allow करते हैं। चूँकि इस शसे बैकलिंक सेट करने वाले वैबसाइट को बहुत लाभ मिलता है।


कुछ वैबसाइट कमेंट लिखने के कुछ दिन तक do follow Backlink रहने देते हैं उसके बाद उसे No follow Backlink में तब्दील कर देते हैं। ऐसा करने से Google Serach में Visitor engagement का लाभ भी मिल जाता है और कुछ समय बाद No Follow link में तब्दील करने से, traffic की संख्या भी कम हो जाती है।


Example:– यह एक सामान्य Do Follow Link का नमूना है। याद रखें कि, सभी लिंक by default Do Follow Link ही होती हैं।


<a href=”abc.com”>Link Text</a>


° No Follow Backlink


इस प्रकार का Backlink एक साइट से दूसरे साइट तक link juise पास नहीं करता है। अगर सर्च इंजन की बात करें तो, वह भी इस प्रकार के बैकलिंक को कोई लाभ प्रदान नहीं करता है। जिस कारण वैबसाइट के rank को आगे बढ़ने में भी लाभ नहीं मिलता है। इसकी positive साइड देखें तो No Follow Backlink का यह लाभ होता है कि, आप किसी भी लिंक को disable कर सकते हैं।


मान लीजिए कि, किसी ऐसी website का comment आया है जिसे आप पसंद ना करते हों तो आप उस बैकलिंक के लिए नो फॉलो एट्रिब्यूट अप्लाई कर सकते हैं।अब इस पॉइंट को एक Example से समझते हैं।


Example:– मैं नहीं चाहता कि मेरे ब्लॉग पर आने वाले visitor abc.com वैबसाइट पर जाएँ। तो मैं इस लिंक को No Follow Backlink attribute कुछ इस तरह दूंगा।


<a href=”abc.com” rel=”nofollow”>Link Text</a>


बैकलिंक के प्रकार / Types of Backlinks


Backlink दो तरह की होती है। पहली है do follow backlinks और दूसरी है no follow backlinks। दोनों में एक तरह का refferal traffic मिलता है। लेकिन do follow links में  search ranking improve होती है। जबकि no follow links में ऐसा नहीं होता है। बस आपको एक refferal traffic ही मिलता है।


इसमें आपकी किसी भी तरह की search ranking improve नहीं होती है। तो अब शायद आपको और अच्छे से समझ आ रहा होगा कि बैकलिंक क्या है?,और इसकी क्या वैल्यू है, और एक बात दोस्तों लिंक में भी low quality  links एंड high quality links होते हैं।


High Quality Backlinks Kya Hai ?


जब आपको किसी बहुत ही popular websites से कोई link मिलता है, तो उसे हम high quality backlinks कहते है। टॉप हाई क्वालिटी वेबसाइट वो होती है, जिनकी DA (domain authority) बहुत ज्यादा होती है, जो कि google पर पहले से ही रैंक करती है।  


उधारण के लिए जैसे:– quora.com और भी बहुत सारी वेबसाइट है। यदि आपको यहाँ से बैकलिंक मिलती है, तो आप की वेबसाइट की search indexing बहुत फ़ास्ट होगी और आपको refferal traffic भी मिलेगा।


Low Quality Backlinks Kya Hai ?


जो वेबसाइट Google के police के खिलाफ हो, जैसी वेबसाइट से हमे लिंक्स मिलता है, तो उसे हम low quality backlinks कहते है। जो कि आपकी website के लिए नुकसानदायक हो सकती है। इसलिए हमेशा high quality backlink बनाने की ही कोशिश करें।


Backlink Kaise Banaye ?


बैकलिंक क्या है ये जानने के बाद हम जान लेते हैं कि बैकलिंक कैसे बनाते है। तो दोस्तों इसे हम दो तरह से बना सकते है। सबसे पहला तरीका है guest post के द्वारा आपको do follow backlinks मिलती है। 


बहुत सी ऐसी websites हैं जो कि guest post लिखने का विकल्प की सुविधा मुफ्त में देती है। यदि आप वहाँ जाकर एक बढ़िया पोस्ट लिखते हों, तो आपको उस website से high quality backlinks मिलती है।


दूसरा तरीका है जो कि बहुत ही आसान और बढ़िया है backlinks बनाने के लिए और वो है दूसरों की website पर comment करना। यदि आप पोस्ट को रैंक कराना चाहते हैं, तो उस आर्टिकल के लिंक्स को कमेंट में लगा कर अच्छी सी कमेन्ट करें। 


यदि जिसकी वेबसाइट पर आपने कमेंट किया है, उसने आपकी कमेंट को approve कर दिया तो आपको एक बढ़िया do follow backlinks या no follow backlinks मिल जाएगी। लेकिन अधिकतर लोग किसी पर्टिकुलर आर्टिकल की लिंक्स को approved नहीं करते हैं।


इसलिए आप सिंपल सा और बहुत बढ़िया कमेंट करें। अपने आप ही आपकी website का link वहाँ पर लग जाता है और इस तरह की कमेंट को लोगों द्वारा approved भी कर दिया जाता है। जिससे की आपकी वेबसाइट को backlinks मिल जाता है।


Backlink के SEO Benefits क्या है ?


इस कार्य से एक तो website पर ढेर सारा visitor traffic आता है। जिस से ad click और content sharing बढ़ता है। और search engine में page rank भी बढ़ता है। high quality bakclink लाभदायी है। low quality bakclink नुकसानकारक है।


Do follow backlink traffic लाते हैं। No follow backlink अपने ब्लॉग पर सेट करने से traffc जाने से रोका जा सकता है। गेस्ट पोस्ट और कमेंट राइटिंग से बैकलिंक कमाए जा सकते हैं। उत्तम quality का कंटैंट लिखने पर natural backlink बढ़ते हैं।


किसी भी ब्लॉग वैबसाइट के sucssful होने के लिए Backlink और internal linking दोनों की ज़रूरत होती है। 


Conclusion:


तो दोस्तों अब आपको अच्छे से समझ आ गया होगा कि Backlink Kya Hai, Backlink Kaise Banaye, Do Follow Backlinks Kaise Banaye और बैकलिंक क्यों जरुरी है। यदी आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हों, तो सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूलें, धन्यवाद।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां